ब्लॉगिंग क्या है? ब्लॉगिंग से पैसे कमाए – What is Blogging ?

ब्लॉगिंग से पैसे कमाना सीखें – What is Blogging

क्या आपने पहले कभी ब्लॉगिंग के बारे में सुना है कि ब्लॉगिंग क्या है (What is Blogging in Hindi) अगर नहीं तो कोई बात नहीं? क्यूंकि आज हम जानेंगे कि ब्लॉग और ब्लॉगिंग क्या है और ब्लॉगिंग से पैसे कैसे कमाए वो भी बिल्कुल आसान भाषा हिंदी में। आइए पहले जानते हैं कि Blog और Blogging का मतलब क्या होता है।

जैसा कि आप जानते होंगे कि प्रतिदिन लाखों लोग अपनी समस्याओं का समाधान खोजने के लिए गूगल या गूगल जैसे अन्य सर्च इंजन प्लेटफॉर्म का उपयोग करते हैं। अब बात आती है कि क्या Google इतने लोगों की समस्याओं का समाधान अपने पास रखता है? नहीं, कदापि नहीं।

सभी Search Engine Platforms का काम सिर्फ Blogs और Websites से जानकारी इकट्ठा करना और उसे आप तक पहुँचाना है। सरल भाषा में कहा जाए तो ब्लॉगिंग लोग अपनी सूचनाओं को साझा करने के लिए करते हैं ताकि ब्लॉग पढ़ने वाले पाठक और उनकी जानकारी लिखने वाले ब्लॉगर (लेखक) हो सकें। इसमें दोनों के फायदे हैं

ब्लॉग क्या है (ब्लॉग क्या होता है) – ब्लॉग क्या है हिंदी में

दोस्तों ब्लॉग क्या होता है (ब्लॉग kya hota hai)? ब्लॉग क्या है? अगर इसे आसान भाषा में समझा जाए तो एक वेबलॉग (ब्लॉग के रूप में जाना जाता है) एक ऐसी वेबसाइट है जहां लोग आपके काम के लिए अपने विचार प्रस्तुत करते हैं, जानकारी साझा करते हैं या आपके व्यवसाय के बारे में लेख लिखते हैं।

जब आप Google, Bing, Yahoo, Baidu, Yandex, Duckduckgo, Contextual Web Search, Yippy Search इत्यादि जैसे किसी भी Best Search Engines Platform पर जाकर कुछ भी Search करते हैं तो वेबसाइट और उसमें लिखी हुई जानकारी केवल नीचे के परिणाम में दिखाई देती है। हम इसे ब्लॉग कहते हैं। तो चलिए अब जानने की कोशिश करते हैं कि ब्लॉग्गिंग क्या है (What is Blogging in Hindi)

ब्लॉगिंग क्या है (blogging kya Hota hai) – हिंदी में ब्लॉगिंग क्या है

दोस्तों आप जान गए होंगे कि ब्लॉग क्या होता है (Blog kya Hota hai) अब बात करते हैं ब्लॉगिंग की, तो ब्लॉगिंग का मतलब है अपने वेबलॉग यानी ब्लॉग पर लगातार कंटेंट (आर्टिकल्स/आर्टिकल्स) लिखना और उसे पोस्ट करना। यह तो साफ है कि अगर आपकी कोई वेबसाइट यानी ब्लॉग है और आप उस पर लगातार पोस्ट लिखते रहते हैं तो इसका मतलब है कि आप ब्लॉगिंग कर रहे हैं।

लोग मानते हैं कि ब्लॉगिंग के लिए कोडिंग जरूरी है, लेकिन ऐसा नहीं है; ब्लॉग्गिंग के लिए कोडिंग की कोई आवश्यकता नहीं है; ब्लॉगिंग से कोई भी व्यक्ति लाखों रुपये कमा सकता है; उसे बस कड़ी मेहनत करनी है।

ब्लॉगर क्या है

ब्लॉगर क्या है, ब्लॉगर वह खास व्यक्ति होता है जो अपने ब्लॉग पर प्रतिदिन कुछ न कुछ अपलोड करता है। आप मेरा उदाहरण भी ले सकते हैं; मेरी पूरी कोशिश रहती है कि कुछ जानकारी को tricdaya.com पर नियमित रूप से साझा करता रहूं। एक अच्छा ब्लॉगर बनना कोई आसान बात नहीं है। एक अच्छा ब्लॉगर वही माना जाता है जो अपने क्षेत्र में लगा हो; अर्थात उसे पूरा ज्ञान होना चाहिए, तभी वह दूसरों को समझा सकता है।

ब्लॉगिंग के प्रकार – हिंदी में ब्लॉगिंग के प्रकार

Blogging मुख्य रूप से दो प्रकार की होती है, लेकिन इसमें आपको बहुत सी शाखाएँ मिल जाएँगी। तो चलिए देखते है ब्लॉग्गिंग कितने प्रकार की होती है (Types of Blogging).

1. इवेंट ब्लॉगिंग – इवेंट ब्लॉगिंग क्या है?

इवेंट ब्लॉगिंग एक मौसमी विषय है जिसमें ब्लॉगर किसी एक त्यौहार या त्योहार (जिसे हम एक इवेंट कहते हैं) पर ब्लॉग बनाते हैं। कोई भी ‘इवेंट बेस्ड ब्लॉगिंग’ आने वाले त्योहार, त्योहार या खास दिन पर आधारित होता है। इसमें लिखने वाले ब्लॉग को इवेंट ब्लॉगर कहा जाता है, और जिस ब्लॉग पर लेख या लेख लिखा जाता है उसे इवेंट ब्लॉगिंग साइट कहा जाता है।

और जिस उत्सव, त्यौहार, या शुभ दिन को ध्यान में रखकर लिखा जाता है उसे Event Based Niche Blogging कहते हैं। जब भी कोई इवेंट आता है तो उस ब्लॉग पर ट्रैफिक बढ़ने लगता है जिससे काफी पैसा बनता है। इवेंट ब्लॉगिंग को इस तरीके के कुछ उदाहरणों से समझा जा सकता है।

उदाहरण के लिए रक्षाबंधन के त्योहार से एक महीने पहले एक ब्लॉग (इच्छा देने वाली वेबसाइट) बना लेना चाहिए, जिसमें राखी, संबंधित वॉलपेपर, शायरी, शायरी आदि के बारे में बताया जाएगा। अगर आपका यह ब्लॉग रक्षाबंधन के समय गूगल पर रैंक हो जाता है , तो आप इससे काफी पैसे कमा सकते हैं वो भी सिर्फ एक से दो दिन के अंदर लेकिन Event Blogging एक बहुत ही जोखिम भरा काम है।

अगर आपका ब्लॉग हिट हो जाता है तो कोई बात नहीं. नहीं तो आपका सारा पैसा डूब जाएगा। इसलिए इवेंट ब्लॉगिंग सोच समझ कर करनी चाहिए। यदि आपके पास अनुभव नहीं है तो आपको अभी आय की उम्मीद नहीं करनी है और कोशिश करते रहें।

2. स्थायी ब्लॉगिंग – स्थायी ब्लॉगिंग क्या है?

Permanent Blogging में आपको लगातार मेहनत करने की जरूरत होती है। इसमें आपको किसी एक क्षेत्र का चुनाव करना होता है जिसमें आपका अनुभव हो तो आप उस पर एक ब्लॉग बनाएं और हर दिन आर्टिकल लिखें जैसे मैं अपने ब्लॉग पर लिखता हूं। इस प्रकार की ब्लॉगिंग के लिए आपको काफी इंतजार करना पड़ सकता है। एक बार जब आपकी वेबसाइट (ब्लॉग) रैंक हो जाती है, तो यह आपको अमीर बना सकती है। इसलिए कहा जाता है कि “संतोष परम सुखम्”।

ब्लॉगिंग कैसे करें – ब्लॉगिंग कैसे करें?

Blogging kaise kare जितना आप यह जानने के लिए उत्सुक हैं, मैं भी आपको बताने के लिए उत्सुक हूं। तो दोस्तों आपको ब्लॉग्गिंग करने के लिए किसी खास डिवाइस की जरूरत नहीं है अगर आपके पास सिर्फ एक मोबाइल या लैपटॉप है तो यह काम करेगा। सबसे पहले आपको एक विषय चुनना होगा। आप उसी विषय को चुनते हैं जिसमें आप अच्छे हों और लोगों को बेहतर तरीके से समझा सकें।

आप मुझे ही देखते हैं, मेरा अनुभव टेक्नोलॉजी के क्षेत्र में है, इसलिए मैं आपको उसी के बारे में अच्छे से समझाने की कोशिश कर रहा हूं। इसलिए आप भी सबसे पहले अपनी पहचान उस क्षेत्र में बनाएं जिसमें आपमें प्रतिभा है, आपको उस क्षेत्र में जाना चाहिए। अपना टॉपिक चुनने के बाद आपको उस पर आर्टिकल लिखना है।

आपके द्वारा लिखा गया लेख कम से कम 800 शब्दों का होना चाहिए। एक बात का आपको ध्यान रखना है कि आपको किसी भी वेबसाइट से आर्टिकल को कॉपी-पेस्ट नहीं करना है। अगर आप ऐसा करते हैं तो आप Google में रैंक नहीं कर पाएंगे और आपकी मेहनत बेकार चली जाएगी। ब्लॉग्गिंग करने के लिए आपके पास दो चीज़ें होनी चाहिए – पहली डोमेन और दूसरी वेब होस्टिंग।

डोमेन क्या है – डोमेन नाम क्या है?

जिस तरह से हम एक दुकान खोलते हैं, हम उसका एक नाम रखते हैं, उसी तरह अगर हम एक ब्लॉग बनाते हैं, तो हम उस ब्लॉग का एक नाम रखते हैं, जिससे आपकी वेबसाइट जानी जाती है। जैसे मेरी वेबसाइट का नाम है Trickya.com. तो Trickya.com डोमेन नाम है। एक डोमेन नाम प्राप्त करने के लिए, आपको उस डोमेन के लिए उचित मूल्य चुकाना होगा।

डोमेन क्या है इसके बारे में अधिक पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

Domain Name क्या है और कैसे बनाते है ?

होस्टिंग क्या होती है?

जिस तरह अपनी दुकान में सामान रखने के लिए जगह की जरूरत होती है, उसी तरह ब्लॉग में लेख और संबंधित फोटो या वीडियो को सेव करने के लिए जगह की जरूरत होती है। वेब होस्टिंग के द्वारा आप सारा डाटा स्टोर कर सकते है। इसके लिए भी आपको वाजिब कीमत चुकानी होगी। आप चाहें तो मुफ्त में भी होस्टिंग का इस्तेमाल कर सकते हैं, इसमें कुछ ही सुविधाएं मिलती हैं।

आप दो तरह से ब्लॉगिंग शुरू कर सकते हैं। एक आप मुफ्त में शुरू कर सकते हैं। आप अपने शुरूआती दिनों में सीखने की फ्री सुविधा कर सकते हैं और दूसरा जब आप अच्छे से सीख जाते हैं तो डोमेन और होस्टिंग खरीदने के लिए पैसे देकर ब्लॉगिंग कर सकते हैं।

फ्री में ब्लॉगिंग कैसे करें

अगर आप फ्री में ब्लॉगिंग करना चाहते हैं तो नीचे दिए गए तरीकों का इस्तेमाल करें।

  • ब्लॉगर.com
  • WordPress.com
  • tumblr.com
  • Weebly.com
  • medium.com

इनमें से आप किसी भी प्लेटफॉर्म पर फ्री में अकाउंट बना सकते हैं। उसके बाद आपको जिस भी फील्ड के बारे में नॉलेज है उस पर काम करे अपनी बात लोगों तक पहुंचाए यानी ब्लॉगिंग करे।

ब्लॉगिंग के फायदे – ब्लॉगिंग के फायदे।

जैसा कि आपने शुरू में पढ़ा होगा कि Blog Se Paise Kaise Kamaye यानि ब्लॉग्गिंग के फायदे ही फायदे हैं और इससे आप काफी अच्छी खासी कमाई कर सकते हैं। ब्लॉगिंग के लाभ इस प्रकार हैं –

अगर आप अपने ब्लॉग पर नियमित हैं तो आपके ब्लॉग पर विज्ञापन कंपनी आपसे विज्ञापनों के लिए संपर्क करेगी जिससे आपको काफी पैसे मिलेंगे।

आप Google AdSense से भी पैसे कमा सकते हैं।

ब्लॉग्गिंग करने से आपका ज्ञान बहुत बढ़ेगा और लोग आपकी तारीफ करेंगे जिससे आपको दिल से खुशी मिलेगी।
लेख लिखने से आपका कौशल विकसित होगा और आप लोगों के सामने बोलने से नहीं डरेंगे। तो ब्लॉग्गिंग के बहुत से फायदे है.

ब्लॉग्गिंग से पैसे कैसे कमाए – Blog Se Paise Kaise Kamaye?

ब्लॉग से ब्लॉगिंग करके पैसे कमाने के बहुत सारे तरीके हैं जैसा कि मैंने नीचे दिया है। आप इनमें से एक या अधिक तरीके चुन सकते हैं-

1- Google AdSense – Adsense से पैसे कैसे कमाए?

अगर आपके ब्लॉग पर रोजाना 100 से ज्यादा विजिटर आ रहे हैं यानी वेबसाइट पर आर्टिकल पढ़ रहे हैं तो आपको Google AdSense का इस्तेमाल करना होगा इसके लिए आपको इसकी वेबसाइट पर जाकर अकाउंट बनाना होगा। AdSense के होम पेज पर एक कोड दिया होता है और हैट कोड को अपनी वेबसाइट की थीम में लगाना होता है।

फिर 1 हफ्ते से 1 महीने के अंदर आपकी वेबसाइट को अप्रूवल मिल जाता है। आप अपने ब्लॉग पर AdSense ads चलाकर बहुत सारा पैसा कमा सकते हैं। अगर आपके AdSense account में $10 आ जाते हैं तो आपके घर एक code आयेगा उस code को आप AdSense में डालकर अपना account number add कर सकते हैं. ब्लॉग से कमाया हुआ पैसा आपके खाते में आ जाएगा।

2- एफिलिएट मार्केटिंग – एफिलिएट मार्केटिंग से पैसे कैसे कमाए?

Affiliate Marketing एक ऐसे उत्पाद का प्रचार कर रहा है जिससे लोग लाखों रुपये छापते हैं। यदि आप अपने ब्लॉग पर किसी ई-शॉपिंग साइट (जैसे अमेज़न, फ्लिपकार्ट आदि) के उत्पाद की समीक्षा करते हैं और लोगों से उस उत्पाद को खरीदने के लिए कहते हैं, तो मार्केटिंग के इस तरीके को एफिलिएट मार्केटिंग कहा जाता है और लोग इससे बहुत पैसा कमाते हैं। टीन का डिब्बा

आप Amazon, Flipkart आदि वेबसाइटों से उनके उत्पादों के लिंक को अपने ब्लॉग पर कॉपी-पेस्ट करें, यदि आपके दिए गए लिंक से कोई उत्पाद खरीदता है, तो उसका कमीशन आपको मिलेगा। तो इस तरह से आप Affiliat से पैसे कमा सकते है

Leave a Comment